वैधानिक चेतावनी: ये साईट सिर्फ़ मनोरंजन के लिए है इस साईट की सभी कहानिया काल्पनिक हैं । इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों से "Indian Hot Jokes" प्रबंधन वर्ग को कोई भी सम्बन्ध नहीं है। इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए आपकी उम्र 22 वर्ष से अधिक होना चिहिए , और आप अपने छेत्राधिकार के अनुसार क़ानूनी तौर पर पूर्ण वयस्क होना चाहिए या जहाँ से आप इस वेबसाइट का उपयोग कर रहे हैं यदि आप इन आवश्यकताओं को पूरा नहीं करते हैं, तो आपको इस वेबसाइट के उपयोग से बचना चाहिए! इस वेबसाइट "इंडियन हॉट जोक्स" पर आप अपना कहानी प्रकाशित करने, या विज्ञापन देने के लिए हमसे हमारे इमेल : indianhotjokes@gmail.com पर संपर्क करे ! आप अपनी कहानी हमें इमेल द्वारा भी भेज सकते हैं! धन्यवाद..
......

Hindi Adult Story - Nisha Ki Chudai - निशा की चुदाई..

मेरि एक दोस्त थी उसका नाम था निशा। हम दोनो एक हि क्लास में पढ़ते थे। वोह शरमिलि सि थि। हमेशा मुझसे डरती रहती थी,एक दिन मैं उसके घर गया वोह अकेलि थि, उसके मम्मी पापा कही बाहर गये हुवे थे।

उसने मुझसे पूछा क्या पियोगे ? कोल्ड ड्रिंक या हॉट ड्रिंक ?? मैंने कहा मुझे तो हॉट हि पसंद है! वो कॉफ़ी बनाने चलि गयि। जहाँ मैं बैठा था उसके बगल में एक सी.डी प्लेयर और टी.वी रखा था, मैं सोचा क्यों न कुछ देखा जाय ? मैंने जैसे ही टी.वी ऑन किया सी.डी में पहले से ब्लू -फ़िल्म का डिस्क लगा था ! मैंने तुरंत टी.वी बंद कर दिया। मैं कॉफ़ी पि कर वापस घर आ गया!


मेरे मन में बार - बार एक सवाल उठ रहा था, निशा जो की सेक्स के नाम से बहुत डरती हैं ! मैंने उसे कई बार पटाने का सोचा भी मगर नहीं पटी... फिर ये सब क्या हैं ??

अगले दिन क्लास में मिलने पर निशा मुझे घर आने के लिए बोली... मैं उसके घर गया उस दिन भी घर पर कोई नहीं था !

मैंने आज फिर उसे कॉफ़ी बनाने के लिए कहा ! वो कॉफ़ी बनाने जैसे ही किचन में घुसी मै भी उसके पीछे गया और उससे चिपक गया... मेरे चिपकते ही निशा घबरा गई और बोली ये क्या कर रहे हो ? जाओ चुपचाप बैठो मैं कॉफ़ी ले कर आ रही हूँ!

कुछ देर में निशा कॉफ़ी लेकर आई.. मैंने पूछ तुम मुझसे इतना क्यों डरती हो ? जबकि अकेले में ब्लू - फ़िल्म देखती हो ? वो कहने लगी कौन सी ब्लू - फ़िल्म ? ये क्या होता हैं ? मैंने कहा तुम कभी ब्लू - फ़िल्म नहीं देखि हो ? उसने कहा नहीं..... मैंने कहाँ अच्छा ठीक हैं... और मै कॉफ़ी पिने लगा ...

कुछ देर के बाद निशा बोली अच्छे रमेश, तुमने कभी ब्लू - फ़िल्म देखि हैं ?? मैं ने कहा हाँ देखि हैं ! उसने कहा उसमे क्या होता हैं ? मैंने कहा कुछ नहीं साधारण फ़िल्म के तरह ही होता हैं ! पर वो जिद्द करने लगी प्लीज़ बताओ न उसमे क्या होती हैं ? मैं बोला कर के दिखाऊ क्या होता हैं ब्लू - फ़िल्म में ? वो बोली हाँ कर के दिखाओ.... मैं समझ गया आज ये भी मुझसे कुछ चाहती हैं!

मैं धीरे - धीरे उसके पास आने लगा... फिर उसका हाथ पाकर लिया... उसने मुझे कुछ नहीं कहा.... धीरे - चीरे मैं उसका निप्पल दबाने लगा... उसके चूची काफी बरे और कड़क थे... मुझे मज़ा आने लगा.... और उसे भी....

फिर मैं उकसा होठ चूसने लगा... वो जोश से कसमसा उठी... और मेरे कमीज के बटन खोलने लगी... बटन नहीं खुलने पर उसने मेरे कमीज़ को फार दि.... मैं भी जोश में था... मैंने भी पहले उसका कुरता उतरा, फिर सलवार उतार दि... फिर धीरे से उसका ब्रा उतार कर चूची को चूसने लगा... ।

आआआआआआआआ।ह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह।ह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह।आआआआआआआआअ।।।।।।।।।ह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह।।।।।।।।।।।।।।करने लगी...

मैं उसका चड्डी उतारने का प्लान ही बना रहा था की उसने मेरे पेंट की चेन खोल दि... और मेरे केले के सामान लंड को पकर कर सहलाने लगी... फिर उसे मुह में लेकर चूसने लगी... मुझे काफी मज़ा आ रहा था ।

खुछ देर के बाद निशा बोली... अब डालो भी... और कितना चुस्बाओगे ??

मैं अपना लंड उसके चूत {@} में डाला मगर लंड अन्दर नहीं जा रहा था! उसने कहा ऐसा करो पहले अपने ऊँगली उसमे डालो... मै उसके चूत में ऊँगली डालकर अन्दर - बाहर करने लगा... थोरी देर के बाद मैं फिर अपना लंड उसके चूत पे डाला और जोड़ से अन्दर धकेल दिया.... वो जोर के चिल्ला उठी...

आआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआअ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।ह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह।

मैं घबरा गया... मैंने कहा ऐसे क्यों चिल्ला रही हो ? थोड़ा दर्द तो होगा ही ?? उसने कहा प्लीज़ धीरे - धीरे करो बहुत दर्द हो रहे हैं... फिर मैं पहले धीरे - धीरे, फिर जोर - जोर से शोट मारने लगा...

आआआआआआआआआआआअ।।।।।।।।ह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हूऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऔऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊउ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।स्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स।ह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह

मैं फिर उसके होठ को चूसने लगा.... ताकि उसकी आवाज़ न निकले.... लगभग आधा घंटा शोट लगाने के बाद मेरा माल (सेक्स) बाहर निकल गया ! मैं उससे चिपक कर सो गया.... वो कहने लगी... रमेश क्या ऐसा होता हैं ब्लू - फ़िल्म ???

मैंने कहाँ हाँ... तो उसने कही अब हमलोग रोज करेंगे... मैंने कहा जब भी कोई घर पर न हो मुझे बुला लेना... वो बोली ठीक हैं ! पर ये सब किसी से कहना मत.... मैंने कहा ठीक हैं.... और मैं घर चला आया.. बाद में हमलोगों का ये सिलसिला काफी दिनों तक चला... उसके बाद उसकी शादी हो गई... और वो मुझसे हमेशा के लिए जुदा हो गई....

No comments:

Post a Comment